माहिर को-पायलट

ग्वालियर महाराज की पाला बदली ने राजस्थान के को-पायलट की स्थिति मजबूत कर दी। दुखी कांग्रेस आकाओं की नजर में वो चढ़ गए हैं। आशंका तो ये थी कि महाराज की तरह को-पायलट राजस्थान में गुल न खिला दें, क्योंकि महाराज ने कांग्रेस छोडऩे से पहले उनसे करीब आधे घंटे मंत्रणा की थी।किंतु को-पायलट मंझे हुए शातिर निकले। राजस्थान में मध्य प्रदेश के दोहराव की … Continue reading माहिर को-पायलट

नया अवतार !!

दूसरी पारी में श्रीमान् मफलर का नया अवतार देखने को मिल सकता है !! शुरूआती संकेत तो यही मिल रहे हैं। जेएनयू के युवा-तुर्क के खिलाफ मुकदमे की लंबे समय से दबी पड़ी अनुमति दे दी गई। केन्द्रीय आकाओं से सौहार्दपूर्ण मुलाकातें हो गईं। ये सब दुबारा सिंहासन मिलने के चंद दिनों के भीतर हुआ है।इसी बीच, ये खबर भी चलाई गई है कि प्रधानसेवक, … Continue reading नया अवतार !!

पीटा वजीर

विभीषण ने एक और लंका ढहा दी। राजा ने नाथ को बरबाद कर दिया। और अपने दोस्त को फिर से आबाद। ऐसा ही कुछ सीन बना मध्य प्रदेश के सियासी मंच पर। राजा ने ऐसा रायता फैलाया कि अच्छे-अच्छे निपट गए। राज्य से लेकर राष्ट्रीय स्तर के कांग्रेसी अखाडिय़े देखते रह गए।ये वही अखाडिय़े हैं, जिन्होंने 2018 में बुजुर्ग नाथ और युवा महाराज को मध्य … Continue reading पीटा वजीर

सधी कदमताल

देश के रक्षा-नाथ सियासत की स्थापित परंपरा निभा रहे हैं। उनका दल तो पूरी तरह से चार्ज है, पर वो सभी को साधने की लाइन पकड़े हुए हैं। तभी तो कश्मीर के दो दिग्गजों की रिहाई की प्रार्थना कर दी। करें भी क्यों न। सरकार में उनका डिमोशन जो हुआ है। पहले नंबर-दो पर थे, अब तीन पर ढकेल दिए गए हैं। इसकी पीड़ा तो … Continue reading सधी कदमताल

राजघरानों की खिचड़ी

राजस्थान में दो राजपरिवारों के सदस्य मिलें और कोई चर्चा न हो, ऐसा संभव ही नहीं है। जयपुर और भरतपुर घरानों के दो सदस्य हाल ही मिले, तो चर्चा भी हुई और कयास भी लगे। कयास ये कि कहीं पालाबदली की तो खिचड़ी नहीं पक रही है क्योंकि भाजपा की सांसद ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार के कबीना मंत्री से गुफ्तुगू की है।राजकुमारी सांसद को … Continue reading राजघरानों की खिचड़ी

मन से–बोली

अमिताभ बच्चन जी का एक वीडियो वायरल हुआ है….वीडियो में उन्होंने ठेठ इलाहाबादी में कोरोना पर कविता पढी है…इसे देखकर ख्याल आया कि…क्यों न हम भी दिन में कम से कम एक ट्वीट अपनी मूल बोली में (अर्थ समेत) पोस्ट करें…आपकी ढूंढाड़ी, अवधी, बंगाली, कन्नड में लिखी पोस्ट…दूसरों को नई बोलियों की जानकारी देगी…हो सकता है कुछ समय बाद हम एक-दूसरे की बोली बोलने लग … Continue reading मन से–बोली

मन से…उफफ

टीवी के रियल्टी शो….सेटिमेंट उभारने को अजीबो-गरीब ड्रामा करते हैं…ड्रामा भी ऐसा कि अखरने लग जाए…शो की कांटिन्यूटी बिगाड़ दे…कन्टेस्टेंट की निजी बातों, खासकर समस्याओं, को एक बार दिखा दो, चलेगा….पर हर बार कन्टेस्टेंट स्क्रीन पर आया नहीं कि उसकी निजता को किस्तों में दिखाना शुरू हों जाता है…बार-बार वही बातें टीवी-व्यूअर्स को बोर कर देती हैं….कन्टेस्टेंट के निजी मसले की गंभीरता हल्के में ली … Continue reading मन से…उफफ

मन से….

लगता है शासनतंत्र को आमजन की थोड़ी सी खुशी भी नहीं सुहाती है….तभी तो 3-4 दिन पहले करीब ढाई रुपए सस्ता किया गया पेट्रोल-डीजल आज 3-3 रु. मंहगा कर दिया…ये मंहगाई विशेष एक्साइज ड्यूटी और रोड सेस के नाम पर की गई है…जो कारण बताया गया है, उसी में लोगों को दुखी रहने देने की शासन की मंशा झलक रही है…कहा गया है कि विश्व … Continue reading मन से….

मन से….

उधार को कहते हैं बुरी आदत….ऐसा क्यों….उधारिये मौटे तौर पर दो किस्म होते हैं….एक नकटे, दूसरे संजीदा…नकटे उठते-बैठते उधार की सोचते हैं….उन्हें लत लग जाती है….सारा काम उनका उधार से ही चलता है….लिहाजा नकटों की ये बुरी आदत कह सकते हैं….पर संजीदा, उनमें उधार लेने की आदत नहीं होती….बल्कि मजबूरी होती है…तभी तो उनमें उधार लौटाने की चिंता होती है….न लौटा पाने की पीड़ा भी … Continue reading मन से….