शून्य सहनशीलता से लगे अंकुश

रंजना मिश्रा –हाल ही में सीबीआई ने 14 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेश में 76 ठिकानों पर ऑनलाइन बाल यौन उत्पीडऩ और शोषण के मामले में छापेमारी की है। भारत में चाइल्ड पोर्नोग्राफी गंभीर अपराध है। आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत पहली बार चाइल्ड पोर्नोग्राफी का अपराध करने पर 5 साल की कैद और 10 लाख रुपए जुर्माने की सजा है। अपराध दोहराए … Continue reading शून्य सहनशीलता से लगे अंकुश

होम मेकर क्यों घरेलू हिंसा की पक्षकार?

हेमलता चतुर्वेदी –पितृसत्तात्मक समाज की अवधारणा औऱ महिला सशक्तिकरण पर काफी समय से बहस छिड़ी हुई है। लोग कह सकते हैं कि राजनीतिक हलकों में यह बहस चल रही है, जमीनी स्तर पर इसके कोई मायने नहीं हैं। यह कहना पूरी तरह गलत भी नहीं है। क्योंकि बाल विवाह संबंधी कानूनों के बावजूद देश में हर साल बाल विवाह हो ही रहे हैं। सवाल दरअसल … Continue reading होम मेकर क्यों घरेलू हिंसा की पक्षकार?

योजना नहीं, ब्रांडिंग के लिए विज्ञापन की रेवडिय़ां

– प्रेसवाणी डेस्क – सरकारी विज्ञापनों में भयंकर अंधेरगर्दी चल रही है। लगभग समूचा मीडिया जगत कारोबारियों की गिरफ्त में आ जाने से राजतंत्र के लिए उसे मैनेज करना आसान हो गया है। मैनेज करने का प्रमुख जरिया प्रचार सामग्री बन गई है। लिहाजा केन्द्र और राज्य सरकारें बगैर बजटीय सीमा तय किए विज्ञापन की रेवडिय़ां बांटकर मीडिया को गोदी बनाए जा रही हैं।यह राय … Continue reading योजना नहीं, ब्रांडिंग के लिए विज्ञापन की रेवडिय़ां

थमी बुजुर्गों की सक्रियता

— आभा शर्मा भारत में वरिष्ठ नागरिकों की जनसंख्या बढ़ रही है। आंकड़े दर्शाते हैं कि बुजुर्ग 2001 में 7.5 प्रतिशत से बढक़र वर्ष 2026 में 12.5 प्रतिशत होने की सम्भावना है और 2050 तक ये 19.5 प्रतिशत से अधिक हो जाएंगे। विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में करीब 20 मिलियन वरिष्ठ नागरिक अकेले रहते हैं और आगामी दो दशकों में … Continue reading थमी बुजुर्गों की सक्रियता

…फिर भी ढूंढी व्यस्तता

— हेमलता चतुर्वेदीजिंदगी जिंदादिली का नाम है। इसीलिए तो उम्र का हर पड़ाव इसे अपने नजरिये से देखता है। बात जब बुजुर्गों की आती है तो जिंदगी जरा संभल कर चलने, अपना खयाल रखने को कहती है, लेकिन उम्रदराज शरीर और झुर्रियों में छिपा मन कहता है ‘अभी मैं थका नहीं हूं।’ मन और उम्र की जुगलबंदी अगर लयबद्ध रहे तो उम्र की यह सांझ … Continue reading …फिर भी ढूंढी व्यस्तता

कोरोना बाद फैला महंगाई वायरस

— रतन मणि लालआँकड़े बड़े काम की चीज हैं। एक कहावत के अनुसार ये सबसे जरूरी तथ्य से ध्यान बंटाने और उसे छिपाने में बड़े काम आते हैं। जितना ज्यादा गूढ आँकड़े होंगे, उतना ही किसी समस्या की गंभीरता को कम करने में आसानी होगी। जीवन का यह एक ऐसा फलसफा है, जिसकी मदद से दुनिया भर की सरकारें अपनी घटती लोकप्रियता को बचाने में … Continue reading कोरोना बाद फैला महंगाई वायरस

बदल गई है अयोध्या

–              सन्तोष कुमार निर्मल – व्यक्ति हो, कोई वस्तु या शहर, उसका वक्त बदलते देर नहीं लगती। जब किसी का अच्छा समय आता है तो उपेक्षित पड़ी वस्तु का भी महत्व बढ़ जाता है। जिस व्यक्ति या शहर की ओर कोई आंख उठाकर भी नहीं देखता था, वह सबकी आंखों का तारा बन जाता है। आकर्षण का केन्द्र बन जाता है। अयोध्या नगरी करीब तीन … Continue reading बदल गई है अयोध्या

फिर से खड़े होने की कवायद

– राजेन्द्र बोड़ा – कोविद महामारी ने अर्थव्यवस्था को बर्बाद किया है। युवाओं की नौकरियां छीनी हैं और नौकरियों के नए अवसरों को बर्बाद किया है। इसने विद्यार्थियों की पढ़ाई पर असर डालते हुए उनके भविष्य को मुश्किल में डाला है। इस महामारी से सबसे अधिक पीडि़त गरीब व्यक्ति हुआ है। जिस अनपेक्षित गति से यह बीमारी दुनियाभर में फैली, उसने स्वाभाविक रूप से लोगों … Continue reading फिर से खड़े होने की कवायद

बच्चियों में पढ़ने की रुचि जगाती – मस्ती की पाठशाला

मस्ती की पाठशाला-ये शिक्षा की एक ऐसी प्रयोगशाला है, जो बच्चियों में पढ़ने की रुचि जगाने के उद्देश्य से शुरू की गई है। ऐसी बच्चियां जो माता-पिता की कड़ाई, संकोच और शर्मीले स्वभाव की वजह से पढ़ाई जारी नहीं रख पाती हैं। कक्षा 7-8 तक पढ़ने के बाद घर बैठ जाती हैं। उनको बिना परीक्षा, बंधन और डांट-डपट के, खुले माहौल में केवल 2-3 घंटे … Continue reading बच्चियों में पढ़ने की रुचि जगाती – मस्ती की पाठशाला

ट्वेंटी-20 – द गेम ओवर!

हेमलता चतुर्वेदी – विश्व पटल एक क्रिकेट स्टेडियम बन गया है। दुनियाभर के देश खिलाड़ी बन गए और साल 2020 एक तेज रफ्तार ट्वेंटी-20 मैच हो गया। बीस ओवर के इस अनचाहे मैच में चीन जैसे खतरनाक खिलाड़ी ने कोरोना की ऐसी फिरकी गेंद फेंकी कि दुनियाभर के दिग्गज खिलाड़ी (देश) कनफ्यूज हो गए कि इसका करें क्या, खेलें कि जानें दें! समझदारों ने इससे … Continue reading ट्वेंटी-20 – द गेम ओवर!